शाम से आज सांस भारी है बे-क़रारी सी बे-क़रारी है-गुलज़ार

शाम से आज सांस भारी है बे-क़रारी सी बे-क़रारी है-गुलज़ार शाम से आज सांस भारी है…

जगजीत सिंह जी की बेहतरीन 10 गज़ले

जगजीत सिंह जी की बेहतरीन 10 गज़ले आवाज़ के जादूगर,अपनी दर्द भरी आवाज से हिंदी ग़ज़लों…