Categories: जैन चालीसा जैन धर्म

Shri Aadinaath Chalisa (CHANDKHEDI) / भगवान आदिनाथ चालीसा (चाँदखेड़ी)

Shri Aadinaath Chalisa (CHANDKHEDI) -चांदखेड़ी एक जैन अतिशय क्षेत्र एवं पवित्र पुण्य धाम है। इस तीर्थ पर गर्भगृह में  विराजमान श्री देवाधिदेव 1008 आदिनाथ स्वामी की प्रतिमा अत्यंत ही मनमोहन और मनोज्ञ है।  यह तीर्थ राजस्थान के बारां जिले में स्थित है।

भगवान आदिनाथ चालीसा (चाँदखेड़ी)

(छंद: दोहा)

शीश नवा अरिहंत को, सिद्धन करूँ प्रणाम ।
उपाध्याय आचार्य का ले सुखकारी नाम ।।
सर्व साधु और सरस्वती जिनमंदिर सुखकार ।
आदिनाथ भगवान् को मन-मंदिर में धार ।।

(चौपाई छन्द)

जै जै आदिनाथ जिन स्वामी, तीन-काल तिहुँ-जग में नामी ।
वेष-दिगम्बर धार रहे हो, कर्मों को तुम मार रहे हो ।।१।।

हो सर्वज्ञ बात सब जानो; सारी दुनियाँ को पहचानो ।
नगर अयोध्या जो कहलाये, राजा नाभिराज बतलाये ।।२।।

मरुदेवी माता के उदर से, चैत-वदी-नवमी को जन्मे ।
तुमने जग को ज्ञान सिखाया, कर्मभूमि का बीज उपाया ।।३।।

कल्पवृक्ष जब लगे बिछरने, जनता आई दु:खड़ा कहने ।
सब का संशय तभी भगाया, सूर्य-चंद्र का ज्ञान कराया ।।४।।

खेती करना भी सिखलाया, न्याय-दंड आदिक समझाया ।
तुमने राज किया नीति का, सबक आपसे जग ने सीखा ।।५।।

पुत्र आपका भरत बताया, चक्रवर्ती जग में कहलाया ।
बाहुबलि जो पुत्र तुम्हारे, भरत से पहले मोक्ष सिधारे ।।६।।

सुता आपकी दो बतलाई, ‘ब्राह्मी’ और ‘सुन्दरी’ कहलाई ।
उनको भी विद्या सिखलाई, अक्षर और गिनती बतलाई ।।७।।

एक दिन राजसभा के अंदर, एक अप्सरा नाच रही थी ।
आयु उसकी बची अल्प थी, इसीलिए आगे नहिं नाच सकी थी ।।८।।

विलय हो गया उसका सत्वर, झट आया वैराग्य उमड़कर ।
बेटों को झट पास बुलाया, राजपाट सब में बँटवाया ।।९।।

छोड़ सभी झंझट संसारी, वन जाने की करी तैयारी ।
राजा हजारों साथ सिधाए, राजपाट-तज वन को धाये ।।१०।।

लेकिन जब तुमने तप कीना, सबने अपना रस्ता लीना ।
वेष-दिगम्बर तजकर सबने, छाल आदि के कपड़े पहने ।।११।।

भूख-प्यास से जब घबराये, फल आदिक खा भूख मिटाये ।
तीन सौ त्रेसठ धर्म फैलाये, जो अब दुनियाँ में दिखलाये ।।१२।।

छै: महीने तक ध्यान लगाये, फिर भोजन करने को धाये ।
भोजन-विधि जाने नहिं कोय, कैसे प्रभु का भोजन होय ।।१३।।

इसी तरह बस चलते चलते, छै: महीने भोजन-बिन बीते ।
नगर हस्तिनापुर में आये, राजा सोम श्रेयांस बताए ।।१४।।

याद तभी पिछला-भव आया, तुमको फौरन ही पड़घाया ।
रस-गन्ने का तुमने पाया, दुनिया को उपदेश सुनाया ।।१५।।

तप कर केवलज्ञान उपाया, मोक्ष गए सब जग हर्षाया ।
अतिशययुक्त तुम्हारा मंदिर, चाँदखेड़ी भँवरे के अंदर ।।१६।।

उसका यह अतिशय बतलाया, कष्ट-क्लेश का होय सफाया ।
मानतुंग पर दया दिखाई, जंजीरें सब काट गिराई ।।१७।।

राजसभा में मान बढ़ाया, जैनधर्म जग में फैलाया ।
मुझ पर भी महिमा दिखलाओ, कष्ट भक्त का दूर भगाओ ।।१८।।

(सोरठा)

पाठ करे चालीस दिन, नित चालीस ही बार ।
चाँदखेड़ी में आय के, खेवे धूप अपार ।।
जन्म दरिद्री होय जो, होय कुबेर-समान ।
नाम-वंश जग में चले, जिनके नहीं संतान ।।

।। AADINAATH CHALISA CHANDKHEDI SAMPUNAM ।।


जैन चालीसा संग्रह :

  1. श्री आदिनाथ चालीसा।। Shri Adinath Chalisa-आर्यिका चन्दनामति माताजी रचित
  2. श्री शांतिनाथ जी चालीसा-Shri Shantinath Ji Chalisa
  3. श्री पारसनाथ चालीसा-Shri Parasnath Chalisa
  4. श्री महावीर चालीसा-Shri Mahaveer Chalisa
  5. प्रथमाचार्य चारित्र चक्रवर्ती आचार्य श्री 108 शांतिसागर जी महामुनिराज चालीसा

Recent Posts

  • आरती-चालीसा
  • हिन्दू धर्म

Saraswati Mata Ki Aarti in Hindi – माँ सरस्वती आरती

Saraswati Mata ki aarti in Hindi माँ सरस्वती जी आरती ॐ जय सरस्वती माता, जय जय सरस्वती माता सदगुण वैभव… Read More

8 hours ago
  • आरती-चालीसा
  • हिन्दू धर्म

Shree Mahakali Chalisa- श्री महाकाली चालीसा

Shree Mahakali Chalisa Hindi Lyrics  ॥ श्री महाकाली चालीसा ॥ ॥ दोहा ॥ जय जय सीताराम के मध्यवासिनी अम्ब, देहु… Read More

9 hours ago
  • आरती-चालीसा
  • हिन्दू धर्म

Shri Giriraj Chalisa – श्री गिरीराज चालीसा

Shri Giriraj Chalisa Hindi Lyrics ॥ श्री गिरीराज चालीसा ॥ ॥ दोहा ॥ बन्दहुँ वीणा वादिनी, धरि गणपति को ध्यान।… Read More

11 hours ago
  • आरती-चालीसा
  • हिन्दू धर्म

Maa Vaishno Devi Chalisa Hindi Lyrics – माँ श्री वैष्णो देवी चालीसा

Maa Vaishno Devi Chalisa Hindi Lyrics ॥ माँ श्री वैष्णो देवी चालीसा ॥ ॥ दोहा ॥ गरुड़ वाहिनी वैष्णवी त्रिकुटा… Read More

11 hours ago
  • आरती-चालीसा
  • हिन्दू धर्म

Shri Lalita Mata chalisa – श्री ललिता माता चालीसा

Shri Lalita Mata chalisa Hindi & English Lyrics ।।श्री ललिता माता चालीसा।। ।।चौपाई।। जयति-जयति जय ललिते माता। तव गुण महिमा… Read More

1 week ago

This website uses cookies.